script‘जिस-जिस महाराज को प्रमाण चाहिए, कुबरेश्वर धाम खुला है’… प्रेमानंद महाराज को दिया जवाब | 'The Maharaj who needs proof, Kubereshwar Dham is open'… reply given to Premanand Maharaj | Patrika News
सीहोर

‘जिस-जिस महाराज को प्रमाण चाहिए, कुबरेश्वर धाम खुला है’… प्रेमानंद महाराज को दिया जवाब

Radha Rani Controversy: कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा ने कहा कि बदनाम करने वालों ने मीरा तक को नहीं छोड़ा तो हमें क्या छोड़ेंगे। जो लोग अपशब्द कहते हैं, वे अपशब्द कहते रहेंगे, भगवान शिव की कथा चलती रहेगी।

सीहोरJun 13, 2024 / 01:28 pm

Ashtha Awasthi

Pandit Pradeep Mishra

Pandit Pradeep Mishra

Radha Rani Controversy: राधारानी के बरसाना से जुड़े विवाद को लेकर कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा और श्रीजी के परमभक्त प्रेमानंद महाराज के बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। प्रदीप मिश्रा के प्रवचन में राधारानी प्रसंग पर रसिक संप्रदाय के संत प्रेमानंद ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। अब पंडित प्रदीप मिश्रा ने प्रेमानंद महाराज को जवाब दिया है। उन्होंने वीडियो में कहा है कि ब्रह्मवैवर्त पुराण के आधार पर ही उन्होंने बताया था कि राधारानी बरसाना की नहीं, रावल गांव की रहने वाली थीं। ब्रह्मवैवर्त पुराण के पेज नंबर 174 पर इसका वर्णन किया गया है।
ये भी पढ़ें: ‘तुझे नरक से कोई नहीं बचा सकता शर्म आनी चाहिए,….प्रेमानंद महाराज ने 24 मिनट तक सुनाई खरीखोटी

आपको बता दें कि राधारानी बरसाना की नहीं थीं, पंडित प्रदीप मिश्रा के इस बयान पर प्रेमानंद महाराज ने एक 24 मिनट का वीडियो बनाकर लताड़ लगाई थी। साथ ही कहा है कि हमारे ईस्ट पर सवाल उठाने वाले को नरक में जगह मिलेगी।

राधारानी के अनन्य भक्त

पं. प्रदीप मिश्रा ने विवाद के बाद कहा, वे राधारानी के अनन्य भक्त हैं। कथा वाचन से पहले बरसाने में राधारानी की 51 परिक्रमा की। गोवर्धन की भी कई परिक्रमा की हैं। शिवपुराणकथा से पहले राधा रानी का भजन गाते हैं। राधाजी के विवाह, जन्म आदि को लेकर जो भी बात कही है वह ब्रह्मदेवत्व पुराण, राधा रहस्य और काली पीठ की पुस्तकों से ली गई हैं।

पूरा वीडिया सुना ही नहीं

पंडित प्रदीप मिश्रा ने कहा है कि जिन्होंने अपशब्द कहे हैं, उन्होंने पूरा वीडिया सुना ही नहीं. सोशल मीडिया पर उनका आधा अधूरा वीडिया काटकर चलाया गया है. यह वीडियो 14 साल पुराना है। कमलापुर में 14 साल पहले जो कथा कही थी, उसमें से वीडियो काटकर चलाया गया है. उस कथा में भगवान श्री कृष्ण के साथ राधा जी के विवाह का भी वर्णन किया है। आगे उन्होंने कहा कि बदनाम करने वालों ने मीरा तक को नहीं छोड़ा तो हमें क्या छोड़ेंगे।
जो लोग अपशब्द कहते हैं, वे अपशब्द कहते रहेंगे, भगवान शिव की कथा चलती रहेगी। जिस जिस महाराज को प्रमाण चाहिए, उनके लिए कुबरेश्वर धाम खुला है और जिन लोगों ने आधी-अधूरी वीडियो चलाई है, उनको राधारानी और शिवजी देख लेंगे।

Hindi News/ Sehore / ‘जिस-जिस महाराज को प्रमाण चाहिए, कुबरेश्वर धाम खुला है’… प्रेमानंद महाराज को दिया जवाब

ट्रेंडिंग वीडियो