scriptडैम का पानी सूखने पर दिखी एक कार, अंदर से निकले देवर-भाभी के कंकाल, दोनों 4 महीने से थे लापता | morena news dewar bhabhi skeletons found in car inside dam water both were missing for 4 months | Patrika News
मोरेना

डैम का पानी सूखने पर दिखी एक कार, अंदर से निकले देवर-भाभी के कंकाल, दोनों 4 महीने से थे लापता

Morena News : कार से मिले कंकाल देवर-भाभी के हैं। दोनों पिछले 4 महीने से लापता थे। हैरानी की बात ये है कि मामले में भाभी की गुमशुदगी की रिपोर्ट तो दर्ज कराई गई, लेकिन देवर की गुमशुदगी दर्ज नहीं कराई गई। परिवार के इस रवैय्ये ने पुलिस को संदेह में डाल दिया है।

मोरेनाJun 19, 2024 / 10:26 am

Faiz

morena news
Morena News : मध्य प्रदेश के मुरैना जिले ( Morena District ) की क्वारी नदी ( Kwari River ) पर गोपी गांव के पास बने स्टॉप डैम ( Stop Dam ) में पानी कम होने से उसमें मंगलवार को एक कार दिखाई दी। कार की बीच की सीट पर देवर-भाभी के कंकाल ( dewar bhabhi skeletons ) मिले हैं। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर कार के साथ कंकालों को बाहर निकाला। पहले ये अज्ञात थे। मृतकों का गांव पास में ही था, इसलिए ग्रामीणों ने उनकी पहचान देवर-भाभी के रूप में की। सूचना मिलने पर सिहोनिया थाना पुलिस मौके पर पहुंची।
पुलिस के अनुसार, जो कंकाल मिले हैं, उसमें 26 वर्षीय नीरज पुत्र जगदीश जाटव निवासी छत्त का पुरा और 32 वर्षीय मिथिलेश पत्नी मुकेश जाटव निवासी छत्त का पुरा हाल गुरुद्वारा मौहल्ला अंबाह के बताए गए हैं। नीरज जाटव और महिला का पति मुकेश जाटव आपस में चचेरे भाई हैं। महिला का पति अंबाह में सरकारी शिक्षक है और गुरुद्वारा मौहल्ला अंबाह में किराए से रहता था।
यह भी पढ़ें- बंद होने वाला है सतपुड़ा टाइगर रिजर्व, जल्दी बनाएं प्लान वरना करना पड़ेगा महीनों इंतजार

पत्नी की गुमशुदगी दर्ज कराई थी

morena news
शिक्षक मुकेश जाटव ने फरवरी महीने में अंबाह थाने में पत्नी मिथिलेश की गुमशुदगी दर्ज करवाई थी। वहीं, उसी समय से नीरज जाटव भी घर से गायब था, लेकिन उसकी गुमशुदगी नहीं कराना, जांच का विषय है। वहीं, कार की बीच की सीट पर देवर-भाभी के कंकाल मिलने से हत्या की आशंका जताई जा रही है।

चार माह से गायब थे देवर-भाभी

छत्ते का पुरा में रहने वाले नीरज जाटव और उसकी भाभी मिथिलेश पिछले 4 महीनों से घर से गायब थे। मिथिलेश के पति ने फरवरी महीने में अंबाह थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। खास बात ये है कि चार महीनों से परिवार के लोगों ने सिहोनियां थाने और न किसी वरिष्ठ अधिकारी को इसकी शिकायत की। गांव में चर्चा है कि परिवार का मामला था, इसलिए उसको दबाने का प्रयास किया गया।

मामले की जांच में जुटी पुलिस

मामले को लेकर डीएसपी विजय भदौरिया का कहना है कि, गोपी स्टॉप डैम में पड़ी मिली कार में छत्ते का पुरा में रहने वाले नीरज जाटव और उसकी भाभी मिथिलेश का कंकाल मिला है। मिथिलेश के गायब होने पर फरवरी में अंबाह थाने में गुमशुदगी दर्ज करवाई गई थी। हम मामले की जांच कर रहे हैं।

Hindi News/ Morena / डैम का पानी सूखने पर दिखी एक कार, अंदर से निकले देवर-भाभी के कंकाल, दोनों 4 महीने से थे लापता

ट्रेंडिंग वीडियो