scriptHIV / AIDS की दवाओं का ब्रेन ट्यूमर वाले मरीजों पर हो रहा परीक्षण | Patrika News
स्वास्थ्य

HIV / AIDS की दवाओं का ब्रेन ट्यूमर वाले मरीजों पर हो रहा परीक्षण

HIV/AIDS: ब्रेन ट्यूमर रिसर्च सेंटर ऑफ एक्सीलेंस विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक एक परीक्षण के जरिए यह जानने का प्रयास कर रहे हैं कि क्या एंटी-रेट्रोवायरल रिटोनावीर और लोपिनवीर जैसी दवाओं का उपयोग न्यूरोफाइब्रोमैटोसिस 2 से पीड़ित लोगों की मदद के लिए किया जा सकता है।

नई दिल्लीJun 21, 2024 / 08:08 pm

Prashant Tiwari

 ब्रिटेन स्थित प्लायमाउथ विश्वविद्यालय ने शुक्रवार को बताया कि एचआईवी (मानव इम्यूनोडिफीसिअन्सी वायरस) और एड्स (अधिग्रहित इम्युनोडिफीसिअन्सी सिंड्रोम) से निपटने के लिए विकसित दवाओं का पहली बार मस्तिष्क ट्यूमर वाले कई मरीजों पर परीक्षण किया जा रहा है। 
HIV/AIDS drugs are being tested on brain tumor patients
ब्रेन ट्यूमर रिसर्च सेंटर ऑफ एक्सीलेंस कर रहा परीक्षण

ब्रेन ट्यूमर रिसर्च सेंटर ऑफ एक्सीलेंस विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक एक परीक्षण के जरिए यह जानने का प्रयास कर रहे हैं कि क्या एंटी-रेट्रोवायरल रिटोनावीर और लोपिनवीर जैसी दवाओं का उपयोग न्यूरोफाइब्रोमैटोसिस 2 से पीड़ित लोगों की मदद के लिए किया जा सकता है। इन्हेरीटेड जेनेटिक कंडीशन के कारण श्वाननोमा (जिसमें ध्वनिक न्यूरोमा शामिल है) ईपेंडीमोमा और मेनिंगिओमा जैसे ट्यूमर उत्पन्न होते हैं। यह मस्तिष्क के चारों ओर की झिल्ली पर विकसित होते हैं।
​​परीक्षण का नेतृत्व कर रहे प्रोफेसर ओलिवर हैनिमैन ने कहा, ”जेनेटिक रोगियों के लिए यह एनएफ2 से संबंधित ट्यूमर के लिए प्रणालीगत उपचार की दिशा में पहला कदम हो सकता है, जिनमें कई ट्यूमर विकसित हो जाते हैं। साथ ही उन रोगियों के लिए भी जिनमें एक बार एनएफ2 म्यूटेशन हुआ है और परिणामस्वरूप इनमें ट्यूमर विकसित हो गया है।”
‘यदि शोध सफल होता है तो बड़ी उपलब्धि होगी

उन्होंने कहा, ”यदि शोध सफल होता है और परिणाम सकारात्मक होते हैं तो यह उन स्थिति वाले रोगियों के लिए सबसे महत्वपूर्ण बदलाव होगा जिनके लिए अब तक कोई प्रभावी उपचार नहीं है।” एक साल तक चलने वाले इस परीक्षण के दौरान, मरीजों को दोनों दवाओं के साथ 30 दिनों के उपचार से पहले ट्यूमर बायोप्सी और रक्त परीक्षण से गुजरना होगा।
शोधकर्ताओं ने बताया कि इसके बाद उन्हें एक और बायोप्सी और रक्त परीक्षण से गुजरना होगा, ताकि यह पता लगाया जा सके कि दवा का संयोजन ट्यूमर कोशिकाओं में प्रवेश करने में कामयाब रहा है या नहीं और उसका कोई प्रभाव बीमारी पर पड़ा है या नहीं।

Hindi News/ Health / HIV / AIDS की दवाओं का ब्रेन ट्यूमर वाले मरीजों पर हो रहा परीक्षण

ट्रेंडिंग वीडियो