scriptराजस्थान की इस बावड़ी को भूतों ने एक ही रात में बना दिया था, यहां गुफा में समा गई थी पूरी बारात | interesting facts about Chand Bawri situated in village of Abhaneri in Rajasthan | Patrika News
दौसा

राजस्थान की इस बावड़ी को भूतों ने एक ही रात में बना दिया था, यहां गुफा में समा गई थी पूरी बारात

Chand Baori: वैसे तो राजस्थान में कई बावड़ियां है। लेकिन, दुनिया की सबसे गहरी आभानेरी की प्रसिद्ध चांद बावड़ी अपने आप में कुछ ज्यादा ही खास है। आइए जानते हैं इस बावड़ी से जुड़ी कई रहस्मयी बातें-

दौसाJun 23, 2024 / 11:41 am

Santosh Trivedi

chand bawri rajasthan tourism
Chand Baori: अपनी ऐतिहासिक सुंदरता के लिए राजस्थान की दुनियाभर में खास पहचान है। यही वजह है कि दुनियाभर से लाखों की संख्या में देसी-विदेशी पर्यटक यहां घूमने के लिए आते हैं। किलों, महलों, झीलों, स्मारकों और बावड़ियों के लिए भी राजस्थान मशहूर है। वैसे तो राजस्थान में कई बावड़ियां है। लेकिन, दुनिया की सबसे गहरी आभानेरी की प्रसिद्ध चांद बावड़ी अपने आप में कुछ ज्यादा ही खास है। आइए जानते हैं इस बावड़ी से जुड़ी कई रहस्मयी बातें…

13 मंजिला यह चांद बावड़ी 100 फीट से भी ज्यादा गहरी है

चांद बावड़ी राजस्थान के दौसा जिले के आभानेरी गांव में स्थित है। चांद बावड़ी राजस्थान की राजधानी जयपुर से करीब 97 किलोमीटर दूर है। 9वीं शताब्दी में निर्मित इस बावड़ी का निर्माण गुर्जर प्रतिहार वंश के राज मिहिर भोज उर्फ चांद ने करवाया था। यही वजह है कि इस बावड़ी को चांद बावड़ी के नाम से जाना जाता है। यह बावड़ी 35 मीटर चौड़ी है और पक्की सीढियां बनी हुई हैं। 13 मंजिला यह बावड़ी 100 फीट से भी ज्यादा गहरी है, जिसमें करीब 3500 सीढियां है।

चांद बावड़ी को भूलभुलैया के नाम से भी जाना जाता है

chand bawri dausa
इस बावड़ी को भूलभुलैया के नाम से भी जाना जाता है। कहा जाता है कि यह बावड़ी एक ही रात में बनकर तैयार हो गई थी। इतना ही नहीं, स्थानीय लोगों का तो यह भी दावा है कि इस बावड़ी का निर्माण इंसानों ने नहीं, भूतों ने किया था। चांद बावड़ी के साथ ही अलूदा की बावड़ी और भांडारेज की बावड़ी भी एक ही रात में बनी थी।
यह भी पढ़ें

कहानी राजस्थान के उस ऐतिहासिक किले की, जिसका 8वां गुप्त द्वार है काफी रहस्यमय

यह भी कहा जाता है कि एक बार यहां एक बारात आई और चांद बावड़ी में मौजूद अंधेरी-उजाली गुफा में उतर गई। इसके बाद बारात का कोई भी आदमी बाहर नहीं आई। यह भी आज तक रहस्य ही बना हुआ है कि आखिर पूरी बारात कहां पर गायब हो गई है। इस गुफा की लंबाई 17 किमी है, जो भांडारेज गांव में निकलती है।

Chand Baori Step Well: चांद बावड़ी की सिढ़ियां भी हैं काफी खास

chand bawri history in hindi
रिकॉर्ड बताते हैं कि राजस्थान की चांद बावड़ी दुनिया के सबसे पुराने और सबसे बड़े सीढ़ीदार कुओं में से एक है। लेकिन, इसमें और भी बहुत कुछ खास है। यह भी कहा जाता है कि कोई भी इंसान कभी भी एक ही सेट की सीढ़ियों का इस्तेमाल करके बावड़ी में नीचे नहीं जा पाया और फिर उसी रास्ते से वापस ऊपर नहीं चढ़ पाया। इतना ही नहीं, आप एक ही सीढ़ी पर दो बार कदम भी नहीं रख सकते हैं। यह बातें जितनी अविश्वसनीय है, उतनी ही रोचक भी है।

Hindi News/ Dausa / राजस्थान की इस बावड़ी को भूतों ने एक ही रात में बना दिया था, यहां गुफा में समा गई थी पूरी बारात

ट्रेंडिंग वीडियो